धुमधामक साथ मनागिल गुरही

दंगीशरण खवर

घोराही, २१ साउन । थारु समुदायक मनै सोमारक डिन्वा गाउँ गाउँ, टोल–टोलम धुमधामक साथ गुरहि (हेररी) पर्व मनैल बाट । खास कैख बर्खा सेक्ख आपन खेतिपाटि मजा हुइ कना कामना कर्टि हरेक बर्ष गाउँभरिक मनै सामुहिक रुपम गुरही (हेररी) पूजापाठ कर्ना कैगिलक थारु कल्याणकारिणी सभाके पुर्व अध्यक्ष एवं थारु अगुवा तेजमान चौधरी बटोइल । खास कैख यि पुजाह पर्वके रुपम कैलाली, बाँके, बर्दियाम धुमधामक साथम मनैना कर्लक चौधरी बटोइल । दाङम फे यि पर्व मनैठ लेकिन उहाँहुक्र ओत्रा उत्साहके रुपम नै मनैलसे फे यदपी पश्चिम नेपालके थरुहट बाहुल्य जिल्लाम गुरहीके पूजापठक कर्ना कैगिलक उहाँ बटोइल ।

धान लगाके सेक्लसे धान, कोक्नी लगायत अन्न बाली मजा उत्पादन डिह ओ किराकाँटि नै लाग कैख गाउँम सामुहिक रुपम पूजापाठ कैजिठा चौधरी कल । गाउँके गु¥वा या ट देश बन्ध्या गु¥वासे यि पुजा कर्ना चलन रलक उहाँ बटोइल । समयम यि पूजापाठ कर्लसे अन्नपातम किराकाँटि नै लग्ना, मजा उत्पादन डेना ओ गाउँके सुरक्षा हुइठा कना परम्परागत विश्वास रलकओर्स फे आपन संस्कार बचाइलाग फे थारु समुदायके मनै गुरहि पर्व निरन्तरता डेटि अइलक् उहाँके कहाइरलहिन ।

दंगीशरण खबर

प्रतिक्रिया दिनुहोस्

भर्खरै प्रकासित